Monday , December 10 2018
Breaking News
Home / दिल्ली / दिल्ली के मंडावली इलाके में मंगलवार को भूख से हुई तीन बच्चों की मौत पर सरकार को जनता के गुस्से का शिकार होना पड़ा। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के जनता दरबार में लोगों ने खूब हंगामा किया। जनता के विरोध को देखते हुए सिसोदिया को कार्यक्रम बीच में ही छोड़कर चले जाना पड़ा। कार्यक्रम में सिसोदिया के पहुंचते ही लोगों ने सिसोदिया से सवाल किया कि उनके क्षेत्र में लोगों के राशन कार्ड आज तक क्यों नहीं बन सके हैं? लोगों से आधारकार्ड बनवाने के भी पांच-पांच सौ रुपये तक मांगे जा रहे हैं। ऐसे में उन्हें सरकार की योजनाओं का लाभ कैसे मिलेगा। लोगों का कहना था कि अगर मंगल के परिवार का राशन कार्ड बना होता तो आज बच्चों की मौत न हुई होती। बच्चों की मौत से नाराज लोगों ने सरकार विरोधी नारे लगाना शुरू कर दिया जिसके बाद सिसोदिया कार्यक्रम के बीच में ही उठकर चले गए। शराब की दुकान बंद कराने के कार्यक्रम में पहुंचे थे सिसोदिया मंडावली इलाके में एक अतिव्यस्त मार्ग है जिसे पुलिया मार्ग के नाम से जाना जाता है। लक्ष्मी नगर, प्रीत विहार या निर्माण विहार जाने के लिए इस क्षेत्र के लोग इसी मार्ग का उपयोग करते हैं। शाम के समय यह रोड बहुत भीड़भाड़ वाली हो जाती है और इस पर चलना भी मुश्किल हो जाता है। लेकिन इसी मार्ग पर एक शराब की दुकान है। शाम के समय अक्सर यहां शराबियों की भीड़ इकट्ठी हो जाती है और क्षेत्र के लोगों का कहना है कि शराबी अक्सर शराब पीकर यहां अभद्र हरकतें करते रहते हैं, जिससे अक्सर लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस क्षेत्र में ही अपराध की कई घटनाएं घटती रहती हैं। क्षेत्र के लोग इसके लिए भी इस शराब की दुकान को ही जिम्मेदार मानते हैं। मंगल के दोस्त के घर के पास है शराब की दुकान ध्यान देने की बात है कि तीन मृतक बच्चों का पिता मंगल उन्हें लेकर जिस नारायण यादव के पाश रहने गया था, उसका मकान भी इसी शराब की दुकान से कुछ ही दूर पर है। मंगल भी खूब शराब पीता था, ऐसा बताया गया है। इस शराब की दुकान से लगभग सौ मीटर की दूरी पर ही प्राथमिक विद्यालय, माध्यमिक सरकारी विद्यालय और दो प्राइवेट पब्लिक स्कूल भी हैं। अभिभावकों का कहना है कि शराब की दुकान के कारण बच्चों पर बहुत नकारात्मक असर पड़ रहा है। लिहाजा, इस क्षेत्र के लोग लंबे समय से इस शराब की दुकान को बंद कराने की मांग करते रहे हैं। मुनादी हुई आज रविवार सुबह से ही क्षेत्र में एक मुनादी करवाई गई थी। मुनादी के मुताबिक क्षेत्र के लोगों को जनता दरबार में उपस्थित होकर इस क्षेत्र में शराब की दुकान होनी चाहिए या नहीं होनी चाहिए, विषय पर अपनी राय रखनी थी। इसके बाद कार्यक्रम में मनीष सिसोदिया से यह मांग की जानी थी कि सरकार इस शराब की दुकान को बंद करे। पहुंचे सिसोदिया दोपहर के समय जब उपमुख्यमंत्री सिसोदिया इस कार्यक्रम में पहुंचे तब लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया और सिसोदिया पर अपने क्षेत्र की उपेक्षा करने का आरोप लगाया। बच्चों की मौत के बाद जब भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन जैसे नेता मंगल के घर पहुँचे थे, तब भी उन्हें जाने का साफ रास्ता नहीं मिला था। उन्हें लगभग घुटने तक पानी में घुसकर घटनास्थल तक पहुंचना पड़ा था। लोगों ने उसी का उल्लेख करते हुए कहा कि उनके क्षेत्र में रास्ता तक नहीं है और सिसोदिया खुद को उनका हितैषी बता रहे हैं।

दिल्ली के मंडावली इलाके में मंगलवार को भूख से हुई तीन बच्चों की मौत पर सरकार को जनता के गुस्से का शिकार होना पड़ा। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के जनता दरबार में लोगों ने खूब हंगामा किया। जनता के विरोध को देखते हुए सिसोदिया को कार्यक्रम बीच में ही छोड़कर चले जाना पड़ा। कार्यक्रम में सिसोदिया के पहुंचते ही लोगों ने सिसोदिया से सवाल किया कि उनके क्षेत्र में लोगों के राशन कार्ड आज तक क्यों नहीं बन सके हैं? लोगों से आधारकार्ड बनवाने के भी पांच-पांच सौ रुपये तक मांगे जा रहे हैं। ऐसे में उन्हें सरकार की योजनाओं का लाभ कैसे मिलेगा। लोगों का कहना था कि अगर मंगल के परिवार का राशन कार्ड बना होता तो आज बच्चों की मौत न हुई होती। बच्चों की मौत से नाराज लोगों ने सरकार विरोधी नारे लगाना शुरू कर दिया जिसके बाद सिसोदिया कार्यक्रम के बीच में ही उठकर चले गए। शराब की दुकान बंद कराने के कार्यक्रम में पहुंचे थे सिसोदिया मंडावली इलाके में एक अतिव्यस्त मार्ग है जिसे पुलिया मार्ग के नाम से जाना जाता है। लक्ष्मी नगर, प्रीत विहार या निर्माण विहार जाने के लिए इस क्षेत्र के लोग इसी मार्ग का उपयोग करते हैं। शाम के समय यह रोड बहुत भीड़भाड़ वाली हो जाती है और इस पर चलना भी मुश्किल हो जाता है। लेकिन इसी मार्ग पर एक शराब की दुकान है। शाम के समय अक्सर यहां शराबियों की भीड़ इकट्ठी हो जाती है और क्षेत्र के लोगों का कहना है कि शराबी अक्सर शराब पीकर यहां अभद्र हरकतें करते रहते हैं, जिससे अक्सर लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस क्षेत्र में ही अपराध की कई घटनाएं घटती रहती हैं। क्षेत्र के लोग इसके लिए भी इस शराब की दुकान को ही जिम्मेदार मानते हैं। मंगल के दोस्त के घर के पास है शराब की दुकान ध्यान देने की बात है कि तीन मृतक बच्चों का पिता मंगल उन्हें लेकर जिस नारायण यादव के पाश रहने गया था, उसका मकान भी इसी शराब की दुकान से कुछ ही दूर पर है। मंगल भी खूब शराब पीता था, ऐसा बताया गया है। इस शराब की दुकान से लगभग सौ मीटर की दूरी पर ही प्राथमिक विद्यालय, माध्यमिक सरकारी विद्यालय और दो प्राइवेट पब्लिक स्कूल भी हैं। अभिभावकों का कहना है कि शराब की दुकान के कारण बच्चों पर बहुत नकारात्मक असर पड़ रहा है। लिहाजा, इस क्षेत्र के लोग लंबे समय से इस शराब की दुकान को बंद कराने की मांग करते रहे हैं। मुनादी हुई आज रविवार सुबह से ही क्षेत्र में एक मुनादी करवाई गई थी। मुनादी के मुताबिक क्षेत्र के लोगों को जनता दरबार में उपस्थित होकर इस क्षेत्र में शराब की दुकान होनी चाहिए या नहीं होनी चाहिए, विषय पर अपनी राय रखनी थी। इसके बाद कार्यक्रम में मनीष सिसोदिया से यह मांग की जानी थी कि सरकार इस शराब की दुकान को बंद करे। पहुंचे सिसोदिया दोपहर के समय जब उपमुख्यमंत्री सिसोदिया इस कार्यक्रम में पहुंचे तब लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया और सिसोदिया पर अपने क्षेत्र की उपेक्षा करने का आरोप लगाया। बच्चों की मौत के बाद जब भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन जैसे नेता मंगल के घर पहुँचे थे, तब भी उन्हें जाने का साफ रास्ता नहीं मिला था। उन्हें लगभग घुटने तक पानी में घुसकर घटनास्थल तक पहुंचना पड़ा था। लोगों ने उसी का उल्लेख करते हुए कहा कि उनके क्षेत्र में रास्ता तक नहीं है और सिसोदिया खुद को उनका हितैषी बता रहे हैं।

दिल्ली-एनसीआर में लगातार हल्की फुल्की बारिश हो रही है, जिसके कारण बिल्डिंगे गिर रही हैं। ग्रेटर नोएडा के शाहबेरी बिल्डिंग गिरने का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि एक और 5 मंजिला इमारत झुक गई है। लोगों की सुरक्षा को देखते हुए आसापास की 2 अन्य इमारतों को खाली करवाया जा रहा है। इमारत झुकने की सूचना स्थानीय लोगों ने पुलिस को दी। पुलिस के आने से पहले सभी लोगों ने इमारक को खाली कर दिया था।

About AAJ REPORTER

Check Also

खुशियों की सौगात ले आई ये बरसात, 2018 में पहली बार दिल्ली में खुलकर लीजिए सांस

दिल्ली-एनसीआर में बीते 3 दिनों से रूक-रूक कर लगातार बारिश हो रही है। बारिश से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by moviekillers.com